Tuesday, March 5, 2024
Homeमध्यप्रदेशKhandwa: दो दिनों तक चले कलाकारों के समागम का समापन, 81 फीट...

Khandwa: दो दिनों तक चले कलाकारों के समागम का समापन, 81 फीट ऊंची बालाजी प्रतिमा पर बनी डाक्यूमेंट्री भी दिखाई


दो दिवसीय समागम का समापन।
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


मध्यप्रदेश के खंडवा जिले में अभिजीत सोशल वेलफेयर सोसायटी के द्वारा कलाकारों का दो दिवसीय समागम देर शाम सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य स्थानीय दिवंगत कलाकारों को श्रद्धांजलि अर्पित करना और शहर के वरिष्ठ कलाकारों का सम्मान कर उनसे आमजन को रूबरू भी कराना था। इस दौरान छाया चित्र प्रदर्शनी के साथ ही देश की सबसे बड़ी बालाजी प्रतिमा पर बनी डाक्यूमेंट्री दिखाकर इसकी बारीकियों से स्थानीय लोगों को अवगत कराया गया। खंडवा विधायक ने कलाकारों के सम्मान में गीत गुनगुना कर उन्हें श्रद्धांजलि दी ।

खंडवा शहर के मणिक्य वाचनालय में स्थानीय कलाकारों का श्रद्धांजलि 2024 कार्यक्रम सम्पन्न हुआ, जिसमें वरिष्ठ कलाकार अनिल कनाडे और आलोक जोशी को श्रद्धांजलि दी गई। वहीं, कलाकार अमित कुमार गुप्ता की एकल छायाचित्र प्रदर्शनी “प्रीति कथा” का प्रदर्शन भी किया गया । कार्यक्रम में खंडवा विधायक कंचन तनवे ने स्व कलाकारों को श्रद्धांजलि अर्पित कर गीत गुनगुनाया। वरिष्ठ पत्रकार जय नागड़ा ने स्वर्गीय कलाकरों को याद कर उनके बारे में कई बातें श्रोताओं को बताई। 

कर्यक्रम में कई कलाकारों ने अपनी कला का प्रदर्शन किया। जिनमें अदिति दुबे, घनश्याम राठौड़ ने टीम के साथ भजनों की प्रस्तुति दी। नवीन सोनी ने शानदार कथक कर सब का मन मोह लिया। 

माय क्लासरूम का हुआ विमोचन

दो दिवसीय कार्यक्रम के दूसरे दिन अतिथियों के रूप में कैलाश मंडलेकर, विश्वास सोनी, गोविंद शर्मा शिवना प्रकाशन के प्रतिनिधि के रूप में उपस्थित रहे। इन सभी अतिथियों के द्वारा विश्वास सोनी की पुस्तक “शब्द चित्र” का विमोचन किया गया जिसका शीर्षक “माय क्लासरूम” है। जिसके बाद विश्वास सोनी द्वारा अपने कलाकार जीवन का अनुभव दर्शकों के साथ सांझा किया। गोविंद शर्मा द्वारा शिवना प्रकाशन की और से विश्वास सोनी का सम्मान किया गया।  कैलाश मांडलेकर ने आज के परिवेश के अनुरूप “कैमरा और फोटोग्राफी”, “हमारा शहर और ट्रैफिक जाम” विषय पर उम्दा व्यंग्य प्रस्तुत किया। 

बालाजी की विशालकाय प्रतिमा पर डाक्यूमेंट्री

कार्यक्रम के दौरान अमित कुमार गुप्ता की कलायात्रा का डाक्यूमेंट्री के रूप में भी प्रदर्शन किया गया। जिसमें भगवान श्री तिरुपति बालाजी की 81 फीट ऊंची प्रतिमा के बनने के सफर को दर्शाया और इससे संबंधित बारीकियों से अवगत करवाया। डॉक्यूमेंट्री प्रदर्शन के मध्य जय नागड़ा द्वारा कलाकार अमित कुमार गुप्ता से लाइव इंटव्यू भी किया गया, जिस से मूर्ति निर्माण से संबंधित कई रोचक तथ्य उजागर हुए। अमित ने बताया गया कि श्री बालाजी की यह प्रतिमा देश में सबसे बड़ी है। 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments