Home मध्यप्रदेश Guna temple attack: मंदिर के बाहर पड़ी मिली शिवलिंग और नंदी की मूर्ति, गुस्साए लोगों ने लगाया जाम, सात पर केस

Guna temple attack: मंदिर के बाहर पड़ी मिली शिवलिंग और नंदी की मूर्ति, गुस्साए लोगों ने लगाया जाम, सात पर केस

0
Guna temple attack: मंदिर के बाहर पड़ी मिली शिवलिंग और नंदी की मूर्ति, गुस्साए लोगों ने लगाया जाम, सात पर केस
Case registered against seven miscreants who attacked Shiv temple in Guna

लोगों ने लगाया जाम
– फोटो : Amar Ujala Digital

विस्तार


मध्यप्रदेश के गुना जिले के बामोरी में स्थित शिव मंदिर में अज्ञात उपद्रवियों ने तोड़फोड़ करते हुए शिवलिंग को उखाड़कर मंदिर के बाहर फेंक दिया। उक्त घटना के पश्चात लोगों में आक्रोश है। गुस्साए लोगों ने सड़क पर चक्काजाम करते हुए उक्त कृत्य को अंजाम देने वाले आरोपियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है। इस मामले में पुलिस ने संदेह के आधार पर धर्मविशेष के सात लोगों के विरुद्ध केस दर्ज किया है।

जानकारी के मुताबिक उक्त घटना गुना जिले के बामोरी की बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि बुधवार गुरुवार की दरमियानी रात असामजिक तत्वों ने शिव मंदिर में तोड़फोड़ करते हुए शिवलिंग और नंदी की मूर्ति को उखाड़कर मंदिर के बाहर फेंक दिया। उक्त घटना की सूचना जैसे ही स्थानीय लोगों को लगी तो नगर में तनाव की स्थिति बन गई। लोग सड़क पर उतर आए और चक्काजाम कर दिया। हंगामें के बाद पुलिस ने संदेह के आधार पर सात लोगों के पर प्रकरण दर्ज किया है।

वहीं, बमोरी पुलिस थाने में दर्ज की गई एफआईआर के अनुसार, फरियादी सौरभ पुत्र श्रीवल्लभ किरार उम्र 24 साल निवासी बमोरी ने लखन किरार, जयसिंह किरार, रोहित भार्गव, परमानन्द धाकड़, मोतीलाल प्रजापति के साथ उपस्थित होकर मौखिक रिपोर्ट दर्ज कराई है। रिपोर्ट में कहा गया कि बमोरी में नई टंकी के सामने शिवजी का मंदिर बना हुआ है। मंदिर में रोजाना गांव के लोग पूजापाठ करते हैं, जिस कारण से मंदिर में ताला नहीं लगाते।

गुरुवार सुबह 05 बजे करीब में मंदिर के पास से निकल रहा था तो देखा कि शिवजी की पिंडी एवं नंदी भगवान की मूर्ति टूटी हुई पड़ी थी। उन्होंने बताया कि घटना की जगह शाहरूख पुत्र शराफत, रिहान पुत्र गुड्डा, बफाती पुत्र सत्तार, अनवर पुत्र असगर, जिशान पुत्र इजराईल, बिट्टू पुत्र बबलू और रहीश पुत्र रहमान गांव में 12-1 बजे तक घूमते रहते हैं। हमें शंका है कि इन लोगों ने ही उक्त मंदिर की मूर्तियों को क्षतिग्रस्त किया है, जिससे हमारे धर्म का अपमान हुआ है।

उक्त लोगों की शिकायत के आधार पर पुलिस ने संदेह के आधार पर सात संदेहियों के विरुद्ध धारा 295 आईपीसी के तहत प्रकरण दर्ज किया है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here