Saturday, February 24, 2024
Homeउत्तर प्रदेशनोएडा-ग्रेटर नोएडानोएडा को मिला वाटर वॉरियर अवार्ड : अथॉरिटी को दो पुरस्कार क्यों...

नोएडा को मिला वाटर वॉरियर अवार्ड : अथॉरिटी को दो पुरस्कार क्यों दिए गए? पढ़िए खास जानकारी

Tricity Today | नोएडा को मिला वाटर वॉरियर अवार्ड




Noida/New Delhi : नोएडा शहर के निवासियों के लिए अच्छी खबर है। शहर में बेहतर जल प्रबंधन, सीवर वॉटर के ट्रीटमेंट और री-साइकिल वॉटर के अच्छे उपयोग के लिए नोएडा अथॉरिटी को दो बड़े पुरस्कार मिले हैं। विकास प्राधिकरण के जल संसाधन विभाग को वॉटर वॉरियर अवार्ड से नवाज़ा गया है। प्राधिकरण को दो अलग-अलग श्रेणी में यह अवार्ड दिए गए हैं।

नोएडा को ये दो अवॉर्ड मिले

नोएडा प्राधिकरण के जल तथा सीवर विभाग को वर्ल्ड वाटर अवार्ड 2023-24 के तहत वाटर वारियर के रूप में विजेता चुना गया है। यह अवार्ड वाटर डाइजेस्ट टीम ने दिया है। सोमवार की रात नई दिल्ली के एक पांच सितारा होटल में आयोजित समारोह में यह पुरस्कार नोएडा प्राधिकरण के अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी सतीश पाल और जल एवं सीवर विभाग के उप महाप्रबंधक आरपी सिंह ने लिया है। नोएडा प्राधिकरण को वर्ल्ड वाटर अवार्ड के तहत बेस्ट एसटीपी गवर्नेंस और वाटर यूजेज प्रोजेक्ट ऑफ द ईयर की श्रेणी में वाटर वारियर के रूप में चयनित किया गया है। यह पुरस्कार बतौर मुख्य अतिथि भारत सरकार के जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने प्रदान किया। इस मौके पर वाटर डाइजेस्ट वाटर अवार्ड टीम के शीर्ष अधिकारी मौजूद रहे।

नोएडा अथॉरिटी ने क्या खास किया

इस मौके पर उप महाप्रबंधक आरपी सिंह ने बताया कि नोएडा प्राधिकरण के कुल 8 जल शोधन संयंत्र हैं। सभी संचालित संयंत्रों की क्षमता 411 एमएलडी है। शोधित जल का उपयोग ग्रीन बेल्ट, गोल्फ कोर्स, पार्कों की सिंचाई, भवन निर्माण गतिविधियों, अग्निशमन और धूल से बचाव के लिए छिड़काव में किया जाता है। इन सभी प्लांट की शोधित जल क्षमता 260 एमएलडी है। इन सभी एसटीपी से प्राप्त होने वाले शोधित जल का उपयोग अधिक से अधिक मात्रा में करने के लिए प्राधिकरण प्रतिबद्ध है। वित्तीय वर्ष 2024-25 में प्राधिकरण ने 125 एमएलडी शोधित जल का उपयोग करने का लक्ष्य निर्धारित किया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments