Sunday, July 21, 2024
Homeमध्यप्रदेशNiwari: फाइलेरिया की दवा खाने से छात्रावास की 18 बच्चियों की तबियत...

Niwari: फाइलेरिया की दवा खाने से छात्रावास की 18 बच्चियों की तबियत बिगड़ी, उल्टी-चक्कर आने पर पहुंचाया अस्पताल


बच्चियों को अस्पताल से किया गया डिस्चार्ज।
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


निवाड़ी जिले के ग्राम कुलुआ के छात्रावास की 18 बच्चियों की फाइलेरिया की दवा खाने के बाद हालत बिगड़ गई। आनन फानन में सभी बच्चियों को इलाज के लिए एंबुलेंस से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र निवाड़ी ले जाया गया। 18 बच्चियों की तबियत खराब होने की जानकारी मिलते ही हड़कंप मच गया। एसडीएम राकेश मरकाम तुरंत मौके पर पहुंचे और बच्चियों का हाल जाना। हालांकि, सभी बच्चियों की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। 

कुलुआ ग्राम के कस्तूरबा छात्रावास की 18 बच्चियों की फाइलेरिया की दवा खाने से तबियत बिगड़ गई। वार्डन ने पूरे मामले की जानकारी ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर आरसी मलारया को दी। सूचना पर मलारया मौके पर पहुंचे और बच्चियों का चेकअप किया। गंभीर हालत होने पर सभी को एंबुलेंस की मदद से निवाड़ी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया। उपचार के दौरान सभी की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है।

ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर आरसी मलारया ने बताया कि 18 में से दो या तीन बच्चियों को ही चक्कर और उल्टी आने की शिकायत मिली थी। धीरे-धीरे सभी बच्चियों ने इस तरह की शिकायत की। इसके बाद सभी को अस्पताल लाया गया। उन्होंने बताया कि फाइलेरिया की दवाई से किसी प्रकार का कोई साइड इफेक्ट नहीं है, लेकिन जिस प्रकार से बच्चियों ने चक्कर आने की बात बताई है तो उनका उपचार कर दिया गया है और सभी बच्चियां स्वस्थ्य हैं। टीकमगढ़ और निवाड़ी जिले के मलेरिया जिला अधिकारी हरिओम रावत ने बताया कि जब किसी बच्चे के पेट में कीड़े होते हैं और दवा दी जाती है तो इस तरह का रिएक्शन होता है। बच्चों को राहत मिल गई थी, लेकिन सतर्कता के चलते बीएमओ उन्हें हॉस्पिटल लेकर गए। बच्चे पूर्णता स्वस्थ हैं, उनकी अस्पताल से छुट्टी कर दी गई है। 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments