Home छत्तीसगढ़ अंजुमन मस्जिद पर चला बुलडोजर, अधिकारी आए और 60 सेकेंड में गिरा दी पूरी…

अंजुमन मस्जिद पर चला बुलडोजर, अधिकारी आए और 60 सेकेंड में गिरा दी पूरी…

0
अंजुमन मस्जिद पर चला बुलडोजर, अधिकारी आए और 60 सेकेंड में गिरा दी पूरी…

हाइलाइट्स

कवर्धा में नगर निगम ने अवैध अतिक्रमण के तहत मस्जिद की दीवार गिरा दी.
मुस्लिम पक्ष के लोगों ने कहा कि पूरी प्रक्रिया के तहत खड़ी की गई थी दीवार.

रायपुरः देश के कई राज्यों में इन दिनों अतिक्रमण को लेकर सरकार एक्शन मोड में है, जिसके चलते धार्मिक जगहों पर भी अवैध अतिक्रमण को जमींदोज किया जा रहा है. इसी कड़ी में छत्तीसगढ़ के डिप्टी सीएम और गृहमंत्री विजय शर्मा के गृह जिला कवर्धा में अवैध कब्जों पर कार्रवाई की गई. इसके तहत एक मस्जिद के बाउंड्री वॉल को भी बुलडोजर से गिरा दिया गया. इस कार्रवाई के बाद इलाके में तनाव का माहौल उत्पन्न हो गया है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक खुद पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस बाउंड्री वॉल के लिए विधायक निधि से रासि जारी की थी.

कवर्धा शहर के भोजली तालाब के पास अंजुमन जमात खाना की बाउंड्री वॉल सहित अन्य 47 दुकानों पर अवैध कब्जे के तहत कार्रवाई की गई. यह कार्रवाई नगर पालिका और राजस्व विभाग द्वारा की गई है. प्रशासन ने कहा कि यहां की जमीन पर अवैध रूप से कब्जा किया गया था, इसलिए इसपर बुलडोजर चलाया गया है. वहीं मस्जिद की बाउंड्री वॉल गिराने पर मुस्लिम समुदाय के लोग नाराज हो गए. मुस्लिम पक्ष के मुअत्तली ने कहा कि हमने किसी भी तरह का कब्जा नहीं किया है.

यह भी पढ़ेंः महरौली में 900 साल पुरानी बाबा रोजबीह की कब्र पर चला बुलडोजर, भारत में रखी थी इस्लाम की नींव

उन्होंने बताया कि इस बाउंड्री वॉल को विधायक निधि से बनाया गया था, जिसकी एजेंसी खुद नगर पालिका थी और अब अवैध अतिक्रमण कह कर तोड़ दिया गया. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कवर्धा शहर से मस्जिद की बाउंड्री वॉल बनाने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 10 लाख रुपये की राशि विधायक ने अपनी निधि से दी थी. जिसकी एजेंसी खुद नगर पालिका थी और इसका टेंडर भी हुआ था. पूरी प्रक्रिया के तहत बाउंड्री वॉल का निर्माण कराया गया था.

अंजुमन मस्जिद पर चला बुलडोजर, अधिकारी आए और 60 सेकेंड में गिरा दी पूरी...

वहीं इस मामले को लेकर जब कवर्धा के सीएमओ नरेश कुमार वर्मा से सवाल किया तो उन्होंने कहा कि पहले सीमांकन नहीं हुआ था. अभी जब सीमांकन हुआ तो पता चला कि अवैध कब्जा है. इसलिए अतिक्रमण मुक्त कराया गया है.

Tags: Chhattisgarh news, Kawardha news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here