Tuesday, March 5, 2024
Homeमध्यप्रदेशWorld Cancer Day 2024: प्रदूषण वाले शहरों में बढ़ रहे कैंसर के...

World Cancer Day 2024: प्रदूषण वाले शहरों में बढ़ रहे कैंसर के मामले, हवा-सब्जी-पानी सबमें प्रदूषण


पौधरोपण भी किया गया।
– फोटो : न्यूज डेस्क, अमर उजाला, इंदौर

विस्तार


पर्यावरण प्रदूषण अब एक वैश्विक घटना है और इसका प्रभाव विश्वस्तर पर कई क्षेत्रों में स्पष्ट है। पर्यावरण प्रदूषण कैंसर के मामलों में अपना प्रभाव दिखा रहा है। देश के कई शहरों में प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच रहा है। ऐसे में बढ़ती कैंसर की घटनाओं, बदलते कैंसर के रुझान और पर्यावरण प्रदूषण की समीक्षा करने की जरूरत है। देश में कैंसर के बोझ और प्रकार के सबसे हालिया सबूत, भारत में अंतर्निहित प्रदूषण प्रवृत्तियों को उजागर करते हैं। वर्तमान समय में कैंसर के मरीज दिन-प्रतिदिन बढ़ रहे हैं, इसका मूल कारण प्रदूषण ही है। वायु प्रदूषण से त्वचा का कैंसर बढ़ रहा है, वहीं जहरीली गैसों के कारण फेफड़ों का कैंसर भी लोगों में फैल रहा है। इसके अलावा खेतों में छिड़काव की जाने वाली दवाइयां भी कैंसर का कारण बन रही हैं। खासकर सब्जियों पर छिड़कीं जाने वाली कीटनाशक दवाइयों से भी कैंसर फैलता है। हमारी जीवनशैली में परिवर्तन और पर्यावरण संरक्षण के प्रयासों को तेज करके कैंसर से बचा जा सकता है। उक्त विचार वरिष्ठ पर्यावरणविद डॉ. ओपी जोशी ने अभ्यास मंडल एवं मालवमंथन इंदौर के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित व्याख्यान में व्यक्त किए। रुक्मणीबेन दीपचंदभाई गार्डी नर्सेज ट्रेनिंग सेंटर में “पर्यावरण प्रदूषण और कैंसर की घातकता” विषय पर यह व्याख्यान आयोजित किया गया। 

स्वागत उद्बोधन डॉ. मालासिंह ठाकुर ने दिया। कार्यक्रम की जानकारी देते हुए स्वप्निल व्यास ने बताया की हम इस तरह का आयोजन प्रत्येक वर्ष करते हैं। उसके पीछे हमारी मंशा रहती है कैंसर जैसी गंभीर बीमारी के मुख्य कारण अनुचित जीवनशैली और पर्यावरण प्रदूषण के प्रति जन जागृति पैदा करना। उसी के तारतम्य में यह आयोजन किया है। महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ. चेतना जोसेफ ने अपने उद्बोधन में कहा कि नर्सिंग क्षेत्र में कार्य करते हुए एक कैंसर मरीज को संभालना एक चुनौती पूर्ण कार्य होता है। वह पूरी तरह हिम्मत हारा हुआ होता है और उसे हिम्मत देना होती है। यह काम हमारी नर्सेस करती हैं। उसी के सारे पहलुओं की शिक्षा हम अपने विद्यार्थियों को देते हैं। 

उमा झवर ने नेत्रदान के महत्त्व को समझाया

हर्बल फर्स्ट ऐड बॉक्स प्रकल्प के तहत औषधीय पौधों का रोपण भी महाविद्यालय परिसर में किया गया। कैंसर के खिलाफ जनजागृति की शपथ रामेश्वर गुप्ता ने दिलाई। अतिथियों का स्वागत डॉ. लवली.ए.जोशी, वैशाली खरे, पराग जटाले ने किया। संचालन डॉ. सोनम दुबे ने किया आभार कपिल गुप्ता ने माना। कार्यक्रम के पूर्व रोटरी क्लब इंदौर नार्थ द्वारा कैंसर उन्मूलन का संदेश देती रैली भी निकाली गई। कार्यक्रम में रोटेरियन प्रतीक शारदा, गौतम कोठारी, डॉ दिलीप वाघेला, एन.के.उपाध्याय, पी.सी.शर्मा, ज्योति शारदा, उमा झवर, मुरली खंडेलवाल, श्याम पांडे और सुरेश नाहटा मौजूद रहे। 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments