Home छत्तीसगढ़ एक ही रास्ता बचा है…मैं बदला लूंगी, बेटी का आखिरी खत पढ़कर सन्न रह गया परिवार

एक ही रास्ता बचा है…मैं बदला लूंगी, बेटी का आखिरी खत पढ़कर सन्न रह गया परिवार

0
एक ही रास्ता बचा है…मैं बदला लूंगी, बेटी का आखिरी खत पढ़कर सन्न रह गया परिवार

अंबिकापुर. छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में एक स्टूडेंट ने अपनी जान दे दी. मणिपुर थाना क्षेत्र के दर्रीपारा की रहने वाली 12 साल की कक्षा छठवीं की छात्रा ने घर पर फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली है.  छात्रा ने आत्महत्या करने से पहले एक सुसाइड  नोट छोड़ा है जिसमें खुदकुशी करने की वजह स्कूल के टीचरों की प्रताड़ना को बताया है. वहीं छात्रा के आत्महत्या करने से परिजन सदमे में है. छात्रा शहर के एक निजी स्कूल में पढ़ाई करती थी .मंगलवार देर रात करीब 11 बजे घर के पंखे में फांसी लगाकर उसने आत्महत्या कर ली है.

छात्रा के पिता आलोक कुमार सिन्हा ने स्कूल प्रबंधन और स्कूल के टीचरों पर प्रताड़ना का आरोप लगाया है. पिता ने बताया की सुसाइड नोट में लिखा है स्कूल कि टीचर ने छात्रा और उसके दोस्तों की आईडी कार्ड को छीना और  परिजनों को बुलाने को कहा. टीचर बहुत ज्यादा पनिशमेंट देती थी. मेरा पास एक ही रास्ता बचा है मरने का. मरने के बाद मैं बदला लूंगी. वह बहुत बुरी है, बहुत डेंजरस है. प्लीज जितने मेरे दोस्त हैं उनको पनिशमेंट न दें. दो टीचर जो पढ़ाते है टॉर्चर करते है. फिलहाल पूरे मामले में की जांच में पुलिस जुटी गई है.

भाजपा युवा मोर्चा ने किया प्रदर्शन

घटना के बाद से अभिभावकों और स्थानीय लोगों में खासा आक्रोश है. वहीं भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने स्कूल के सामने जमकर प्रदर्शन किया. मौके पर भारी पुलिस बल के साथ प्रशासनिक अधिकारी और शिक्षा विभाग के अधिकारी पहुंचे और स्कूल के शिक्षकों पर कार्रवाई करने का आश्वासन मिलने के बाद युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन शांत हुआ.

ये भी पढ़ें: विधायक देवेंद्र यादव को बड़ा झटका, बिलासपुर हाईकोर्ट ने जारी किया नोटिस, जानें क्या है पूरा मामला

पुलिस पूरे मामले में बारीकी से जांच करने की बात कह रही है. पुलिस के मुताबिक स्कूल प्रबंधन ने छात्रों को प्रताड़ना के बात से इनकार कर रहा है. इधर भाजपा युवा मोर्चा ने  स्कूल प्रबंधन पर कार्नरवाई नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है.

Tags: Ambikapur News, Chhattisgarh news, Crime News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here