Sunday, March 3, 2024
Homeछत्तीसगढ़छत्तीसगढ़ में धर्मांतरण का खेला: धर्म परिवर्तन का लगा आरोप, राम...

छत्तीसगढ़ में धर्मांतरण का खेला: धर्म परिवर्तन का लगा आरोप, राम के नाम पर की अभद्र टिप्पणी; जांच का इंतजार


धर्मांतरण
– फोटो : फाइल फोटो

विस्तार


धर्मांतरण के आरोप के बाद संबंधित लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की मांग को लेकर सूरजपुर जिले के चंदोरा थाना में देर रात गहमा गहमी रही। मामला प्रतापपुर ब्लॉक के दवनकरा के दर्रीपारा में रविवार की है। शाम को थाना पहुंचे सूरजपुर एएसपी शोभराज अग्रवाल की समझाइश और जल्द ही मामले की जांच के बाद कार्रवाई के आश्वासन के बाद स्थिति सामान्य हुई और अब संबंधितों के खिलाफ कार्रवाई का इंतजार किया जा रहा है।

मिली जानकारी के अनुसार, दर्रीपारा के रामप्रसाद के घर में चंगाई सभा और प्रार्थना चल रही थी कि तभी जानकारी मिलने के बाद स्थानीय हिंदू संगठनों से जुड़े लोग घर में पहुंच गए और धर्मांतरण का आरोप लगाते हुए सभा को बंद कराया। उन्होंने इसकी जानकारी चंदोरा पुलिस को दी। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस छह सात लोगों को थाने ले आई।

इस बीच कई संगठनों से जुड़े लोग थाने पहुंच गए और धर्मांतरण का आरोप लगाते हुए सबके खिलाफ अपराधिक प्रकरण दर्ज करने की मांग करने लगे। उन्होंने संबंधितों के खिलाफ लिखित शिकायत भी दी। जिसमें उन्होंने कहा कि जो अब तक भगवान को मानते थे। वे अब परमेश्वर की प्रार्थना की बात कर रहे हैं। सच्चाई यही है कि इनके द्वारा आसपास के लोगों का धर्म परिवर्तन कराया जा रहा है और इसके खिलाफ समय रहते कार्रवाई आवश्यक है।

लेकिन दिन में किसी जिम्मेदार अधिकारी के न होने के कारण कोई  कार्रवाई नहीं हो सकी। शाम तक एसडीओपी अरुण नेताम, थाना प्रभारी नीलिमा तिर्की थाने पहुंच गए थे। जांच के बाद कार्रवाई को लेकर आश्वस्त किया लेकिन संगठन से जुड़े लोगों की मांग थी कि तत्काल मामला दर्ज हो। थाने में गहमागहमी की स्थिति की जानकारी के बाद एएसपी शोभराज अग्रवाल चंदोरा थाना पहुंचे और सभी लोगों से बात कर उन्हें समझाने की कोशिश की।

उन्होंने आश्वस्त करते हुए कहा कि मामले की गंभीरता से जांच जल्दी की जायेगी और धर्मांतरण की पुष्टि होती है। तो निश्चित तौर पर नियमानुसार कार्रवाई की जायेगी। दूसरी तरफ उपस्थिति लोगों ने कार्रवाई न होने पर आंदोलन की चेतावनी भी दी।

इस दौरान लालसाय सिंह पावले,प्रह्लाद गुप्ता,धर्मजित राजवाड़े, देवपाल पैकरा, सुखसागर राजवाड़े, प्रदीप यादव, रिंकु नाविक, विकाश नाविक, नंदेश्वर यादव, अजय साहू, रामजितन नाविक, प्रांजल चौबे, विक्रम नामदेव, प्रवीण नाविक, उमेश, आजाद प्रताप सिंह, मुकेश, शिवम गोयल, विनोद केशरी, सतनारायण, सविंद्र गुप्ता, परमेश्वर नाविक,विजय कुमार, प्रकाश गुप्ता, बरेलाल, मुकेश कुमार गुप्ता, विकाश तिवारी, धर्मजित, बहादुर, रुद्र प्रताप, अरुण कुमार, राकेश राजवाड़े, जगमोहन, संजय केवट, रघुनाथ, संजय कुमार, परमेश्वर राजवाड़े, श्रेयश तिवारी, दीपेश तिवारी, सुनील राजवाड़े, रजय गुप्ता, शंभु राजवाड़े, धर्मजीत, रामराज, बरत लाल, हिम्मत सिंह, संतोष नाविक, विकाश कसेरा, कु़जीलाल, कुनाल मानिकपुरी, नारायण पैंकरा , राहुल , परमानंद, शिवम गुप्ता सहित बड़ी संख्या में हिंदू संगठनों से जुड़े उपस्थित थे।

राम एवं रामायण को लेकर किया अभद्र टिप्पणी

पुलिस जब धर्मांतरण के मामले में कुछ लोगों को थाने में बैठा के रखी थी। तब उनमें से एक परसवार निवासी विशाल विश्वकर्मा भगवान राम और रामायण को लेकर अभद्र भाषा का प्रयोग करने लगा। उसने हिंदू संगठन के लोगों से कहा कि ऐसे राम को क्यों मानें जिसकी वजह से सीधा साधा रावण मारा गया।

जिससे वहां उपस्थित रिंकू नाविक, देवपाल सिंह और विकास ने उसकी बातों से आहत होकर तुरंत चंदोरा पुलिस को लिखित शिकायत दी में धार्मिक भावना को आहत करने के मामले में उसके खिलाफ अपराधिक प्रकरण दर्ज करने की मांग की। इस मामले में भी रविवार को मामला दर्ज नहीं किया और जांच के बाद आगे की कार्यवाही का आश्वासन दिया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments